Tap to Read ➤

आँखों पर बहेतरीन शायरी

आज की स्टोरी में आँखों पर शायरी, aankhein shayari, Shayari on Eyes का बेहतरीन चुनिंदा कलेक्शन लेकर आएं हैं
दिल मैं तुम्हारी अपनी कमी छोड जायेंगे आँखों में इंतजार की लकीर छोड जायेंगे
जो उनकी आँखों से बयां होते हैं,
वो लफ़्ज शायरी में कहाँ होते हैं..
जो उनकी आँखों से बयां होते हैं,
वो लफ़्ज शायरी में कहाँ होते हैं.
आँखे मिलाने का शौक न था,
तुम्हें देखा तो आदत खराब हो गयी..
कैद खाने है, बिन सलाखों के,
कुछ यूँ चर्चें है, तुम्हारी आँखों के..
आँखें ही बना देती है दीवाना किसी का,
आँखें ही बसा देती है घराना किसी का..
लाजमी तो नही है कि तुझे आँखों से ही देखूँ..
तेरी याद का आना भी तेरे दीदार से कम नही.
जीना मुहाल कर रखा है मेरी इन आँखों ने,
खुली हो तो तलाश तेरी बंद हो तो ख्वाब तेरे..
आँखों पर बहेतरीन शायरी
पढ़िए - aankhein shayari, Shayari on Eyes, Nashili aakhein shayari की बेहतरीन शायरियां!
👇
और पढ़ें