Tap to Read ➤

गुलजार साहब की मशहूर शायरियां!- Gulzar Shayari

गुलज़ार साहब भारत के सबसे लोकप्रिय लेखकों में से एक हैं। इसके अलावा, सर्वश्रेष्ठ फिल्म निर्माता और गीतकार। गुलज़ार साहब हिंदी और उर्दू में हज़ारों खूबसूरत ग़ज़ल, कविता, शायरी, उद्धरण, अल्फाज़ और कविताएँ लिखते हैं। Gulzar Shayari
कुछ रिश्तो में मुनाफा नहीं होता
पर जिंदगी को अमीर बना देते हैं..
गुलज़ार साहब शायरी
बहुत छाले हैं उसके पांव में
कमबख्त जिंदगी भर उसूलों पर चला होगा..
अक्सर वही दीए हाथों को जला देते हैं
जिनको हम हवा से बचा रहे होते हैं..
कोई वकालत नहीं चलती जमीन वालों की
जब कोई फैसला आसमा से उतरता है..
कुछ लोग काफी गरीब होते हैं
उनके पास दौलत के अलावा कुछ नहीं होता..
Gulzar sahab shayari
इतना भी सीख कर क्या करंगे ये ज़िन्दगी यहां
हमे कौन सी सादिया बितानी है यहां...
Best gulzar shayari
रूह को भी मिल जाए ठिकाना
हाथ जिसका छूकर
उसी हथेली पर घर बन जाये..
हम अपनी हिचकियो मैं वफाई ढूंढ रहे थे
कम्बखत दो घूंट पानी मे गुम हो गयी..
Gulzar Ki Shayari
जल रहा है सीने मैं कुछ
धुंआ धुंआ सा शायद लगता है
शायद आंखों मैं भी कुछ चुभता है
शायद कोई सपना सुलगता है..
Gulzar hindi shayari
गुलजार साहब की और शायरियां देखने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें।
Gulzar Shayari
और देखें!