Tap to Read ➤

कैफ़ी आज़मी की मशहूर शेरो शायरियां।

कैफ़ी आज़मी के द्वारा लिखी गई शेरो शायरीयो का कलेक्शन लेकर आए. Kaifi azmi shayari
❤️ दिल की नाज़ुक रगें टूटती है
याद इतना भी कोई न आए...
जो वो मेरे न रहे मैं भी कब किसी का रहा
बिछड़ के उनसे सलीक़ा न ज़िन्दगी का रहा...
Kaifi azmi shayari
झुकी झुकी सी नज़र बे-क़रार है कि नहीं,
दबा दबा सा सही दिल में प्यार है कि नहीं..
आज फिर टूटेंगी तेरे घर नाज़ुक खिड़कियाँ
आज फिर देखा गया दीवाना तेरे शहर में..
तू अपने दिल की जवाँ धड़कनों को गिन के बता,
मेरी तरह तेरा दिल बे-क़रार है कि नहीं..
जिन ज़ख़्मों को वक़्त भर चला है
तुम क्यूँ उन्हें छेड़े जा रहे हो...
तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो,
क्या ग़म है जिस को छुपा रहे हो..
जो वो मेरे न रहे मैं भी कब किसी का रहा,
बिछड़ के उनसे सलीक़ा न ज़िन्दगी का रहा..
पढ़िए - Kaifi azmi shayari in hindi, kaifi azmi poetry 2 line, kaifi azmi famous shayari
कैफ़ी आज़मी शायरी
👇
और पढ़ें