Tap to Read ➤

आंखें जब देखती हैं मुझे - Nashili Aankhen Shayari

आज की स्टोरी में Nashili Aankhen Shayari, नशीली आंखें शायरी का बेहतरीन बेहतरीन चुनिंदा कलेक्शन लेकर आएं हैं
गहरी काली आंखें जब देखती हैं मुझे मेरा दिल मानो थम सा जाता है। नशीली इतनी है मेरा जहां जैसे रुक सा जाता है.
तुम्हारी निगाहें बहुत बोलती हैं,
जरा अपनी आँखों पे पलके गिरा दो..
एक नजर फेर ले जीने की इजाजत दे दे,
रुठने वाले वो पहली सी मोहब्बत दे दे..
खूबसूरती न सूरत में है न लिबास में,

निगाहें जिसे चाहे उसे हसीन कर दे..
इश्क़  के  फूल  खिलते  हैं,
तेरी  खूबसूरत  आँखों  में,
जहाँ  देखे  तू  एक  नजर  वहां,
खुशबु बिखर  जाए...
क्या कशिश थी तुम्हारी आँखों मे
तुझको देखा और तेरा हो गया.
होंठों पे उल्फत का नाम होता है,
आँखों में छलकता जाम होता है..
अगर है गहराई तो चल डुबा दे मुझ को,
समंदर नाकाम रहा अब तेरी आँखो की बारी है..
Nashili Aankhen Shayari
पढ़िए - नशीली आंखें शायरी, 2 lines Nashili Aankhen poetry की बेहतरीन शायरियां
👇
और पढ़ें