Tap to Read ➤

नसीर काजमी की मशहूर शेरो शायरियां

आज की स्टोरी में नसीर काजमी की मशहूर शेरो शायरियां, Nasir Kazmi Poetry, Nasir Kazmi Shayari, Nasir Kazmi Hindi Shayari का बेहतरीन बेहतरीन चुनिंदा कलेक्शन लेकर आएं ।
आज तो बे-सबब उदास है जी
इश्क़ होता तो कोई बात भी थी
Hindi Nasir Kazmi Shayari
अकेले घर से पूछती है बे-कसी
तिरा दिया जलाने वाले क्या हुए
ओ मेरे मसरूफ़ ख़ुदा
अपनी दुनिया देख ज़रा
कभी ज़ुल्फ़ों की घटा ने घेरा
कभी आँखों की चमक याद आई.
अकेले घर से पूछती है बे-कसी
तिरा दिया जलाने वाले क्या हुए
नासिर काज़मी शायरी
आरज़ू है कि तू यहाँ आए
और फिर उम्र भर न जाए कहीं.
कौन अच्छा है इस ज़माने में
क्यूँ किसी को बुरा कहे कोई
NASIR KAZMI
पढ़िए - नसीर काजमी की बेहतरीन शायरियां
👇
और पढ़ें